Solution for SCERT up board textbook कक्षा 5 कलरव ( वाटिका ) पाठ 7 जीवन के रंग हिन्दी Class 5 solution hindi pdf. If you have query regarding Class 5 “Vatika” Chapter 7 Jeevan ke rang , please drop a comment below. 

Jeevan Ke Rang - जीवन के रंग  | UP Board Solution Class 5 Kalrav (Vatika) Chapter 7

 

Exercise ( अभ्यास )
प्रश्न ( 1 ) बोध प्रश्न : उत्तर लिखिए

(क) रमइया के अन्दर पेड़ लगाने का जूनून कैसे पैदा हुआ ?

उत्तर – रमइया ने जब जाना कि उसकी बेटी के सिर में दर्द होने का कारण स्कूल में बाहर खुले में बैठकर पढ़ना है | तब से उसके अन्दर पेड़ लगाने का जूनून पैदा हुआ |

(ख) रमइया का सपना क्या है ?

उत्तर – रमइया का सपना है हरी-भरी धरती का, जंगल बचाने का, पेड़ लगाने का |

(ग) रमइया अपना सपना पूरा करने के लिए क्या-क्या करता है ?

उत्तर – रमइया अपना सपना पूरा करने के लिए लोगों को पौधे उपहार में देता है, लोगों को पेड़ों के गुण बताता है और उन्हें पेड़ लगाने के लिए मनाता है |

(घ) रमइया ने कौन सा नारा दिया ?

उत्तर – रमइया ने नारा दिया – ” धरती का अब करो श्रृंगार | पेड़ लगाओ सब दो चार ||”

(ड.) आग लगने पर नन्हीं गौरैया क्या कर रही थी ?

उत्तर – आग लगने पर नन्हीं गौरैया अपनी चोंच में पानी भर-भर कर आग में डालने लगी |

(च) कौवे ने गौरैया से क्या कहा ?

उत्तर – कौवे ने गौरैया से कहा – ‘नन्हीं गौरैया ! क्यों बेकार मेहनत कर रही हो ? तुम्हारी नन्हीं चोंच का बूँद भर पानी इस भयंकर आग को बुझाने में क्या सहायता कर पायेगा |’

(छ) गौरैया ने कौवे को क्या जवाब दिया ?

उत्तर – गौरैया ने कौवे को जवाब दिया – ‘जब कभी इस आग के बारे में बातें होंगी, तो मेरा नाम आग लगाने वालों अथवा तमाशा देखने वालों में नहीं, बल्कि आग बुझाने वालों में लिया जाएगा|’

प्रश्न (2) सोच-विचार : बताइए-

(क) पेड़ थोड़ी सी देखभाल के बदले हमें क्या-क्या देते हैं ?

उत्तर – पेड़ थोड़ी सी देखभाल के बदले हमें फल, फूल, ताज़ी हवा और लकडियाँ आदि प्रदान करते हैं |

(ख) रमइया ने पेड़ लगाकर अपना सपना पूरा किया | आपका सपना क्या है ? इसे पूरा करने के लिए आप क्या करेंगे ?

उत्तर – छात्र स्वयं लिखें |

(ग) अगर आपको पेड़ लगाने हों तो किस-किस के लगाओगे ? यही पेड़ क्यों लगाओगे ?

उत्तर – छात्र स्वयं लिखें |

(घ) पेड़ कहाँ-कहाँ लगाओगे ? और इनकी देखभाल कैसे-कैसे करोगे ?

उत्तर – छात्र स्वयं लिखें |

प्रश्न (3) भाषा के रंग –

(क) ‘वहाँ’ शब्द में चन्द्रबिन्दु ( अनुनासिक ) तथा ‘जंगल’ शब्द में केवल बिंदी ( अनुस्वार ) लगा है पाठ में आए हुए अनुस्वार और अनुनासिक लगे शब्दों को छाँटकर लिखिए –

अनुनासिक शब्द – जहाँ , दाँतों , माँगते , वहाँ ,जाएँ , बूँद ,हूँ

अनुस्वार शब्द – हैं , नहीं , जंगल , अधिकारियों , इंसान , पेड़ों , मंदिर , तरीकों , शृंगार , में , चोंच , परंतु , बातें , वालों

(ख) उदाहरण के अनुसार पानी के पर्यायवाची शब्दों में क्रमशः ‘ज’, ‘द’ व ‘धि’ जोड़कर कमल, बादल व समुद्र के पर्यायवाची बनाइए –

पानीकमल
+ज
बादल
+द
समुद्र
+धि
जल जल + ज =जलज जल + द =जलदजल + धि =जलधि
वारि वारि + ज =वारिज वारि + द =वारिद वारि + धि =वारिधि
नीर नीर +ज =नीरज नीर + द =नीरद नीर + धि =नीरधि

(ग) ‘ती’ लगाकर पुल्लिंग से स्त्रीलिंग में बदलिए –

पुंलिंग स्त्रीलिंग
बुद्धिमान बुद्धिमती
गुणवान गुणवती
भाग्यवान भाग्यवती
रूपवान रूपवती
श्रीमान श्रीमती
शीलवान शीलवती

(घ) विलोम लिखिए –

शब्द विलोम शब्द
जागना सोना
रोना हँसना
कोमल कठोर
उठना बैठना
चढ़ना उतरना
पराजय विजय

(ड.) रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –

गौरैया बोली – यह तो मैं भी जानती हूँ, परन्तु यदि कभी इस आग के बारे बात होगी, तो मेरा नाम आग लगाने वालों अथवा तमाशा देखने वालों में नहीं, बल्कि आग बुझाने वालों में लिखा जाएगा|

(च) अपने वाक्यों में प्रयोग कीजिए –

  • पेड़ लगाना – पेड़ लगाना पुण्य का कार्य है|
  • सपने देखना – राम कलेक्टर बनने के सपने देखता है |
  • आग बुझाना – गाँव में आग लगने पर फायर बिग्रेड वालों ने आग बुझाई |
  • पेड़ों की देखभाल करना – पेड़ों की देखभाल सही ढंग से करने पर ही पेड़ तेजी से बढ़ते हैं |
  • उपहार में पौधे देना – आज मोहन को मैंने उपहार के रूप में पौधे दिए |
  • तमाशा देखना – एक व्यक्ति को गुंडे मार रहे थे, लोग खड़े होकर तमाशा देख रहे थे |
  • कोशिश जारी रखना – अंतिम समय तक कोशिश जारी रखनी चाहिए |

प्रश्न (4) तुम्हारी कलम से-

(क) पाठ में एक वाक्य है – ‘दस रमइया मिल जाएं तो धरती बच जाए’ | सोचिए और लिखिए कि हम किन-किन तरीकों से लोगों को रमइया की भांति पेड़ लगाने को जागरूक कर सकते हैं ?

उत्तर- रमइया की तरह पहले स्वयं पेड़ लगाने की आदत डालनी होगी | तभी लोगों को जागरूक कर पायेंगे | दूसरे को काम करता देख, लोग देखा-देखी भी कार्य करना शुरू कर देते हैं |

(ख) अपने बड़ों से पता करके लिखिए –

  • आपके आसपास के पेड़ किसने लगाए हैं ? – छात्र स्वयं लिखें |
  • किस व्यक्ति ने सबसे ज्यादा पेड़ लगाए हैं ? – छात्र स्वयं लिखें |
  • यदि वह व्यक्ति जीवित है तो उनसे मिलकर पूछिए कि उन्हें पेड़ लगाने की प्रेरणा किससे मिली ? – छात्र स्वयं लिखें |

प्रश्न (5) अब करने की बारी –

(क) गौरैया और कौआ के चित्र बनाइए |

उत्तर – छात्र स्वयं बनाएं |

(ख) तालिका के अनुसार पेड़-पौधों के नाम लिखिए –

छायादार फलदार कीमती
लकड़ी
औषधीय सजावटी
पीपल आम शीशम नीम मनी प्लांट
बरगद नीबू साखू तुलसी गुलदाउदी
गुलमोहर जामुन सागौन एलोवेरा गेंदा

(ग) पेड़-पौधों के महत्त्व से सम्बंधित एक पोस्टर बनाकर और उसे ऐसी जगह पर लगाइए जहां बहुत से लोग आते-जाते पढ़ सकें |

उत्तर- छात्र स्वयं करें |

(घ) हरा भरा स्कूल : बच्चे छाँव में पढ़ सकें इसके लिए रमइया ने बहुत से पौधे लगा दिए | आप भी बना सकते हैं अपने स्कूल को हरा-भरा, जानें कैसे –

  • अपने साथियों के साथ में उन जगहों की तलाश कीजिए, जहां पेड़ लगाए जा सकते हैं |
  • बरसात के मौसम में अपने साथियों के साथ मिलकर इन जगहों पर अपनी-अपनी पसंद के पौधे लगाइए |
  • अब इन पौधों की नियमित देखभाल कीजिए | आप देखेंगे कुछ ही दिनों में आपका स्कूल कितना हरा भरा हो गया है |

प्रश्न (6) मेरे दो प्रश्न : पाठ के आधार पर दो सवाल बनाइए –

(1) किसको लोग सनकी कहते थे ?

(2) रमइया की बेटी को सिरदर्द होने का क्या कारण था ?

प्रश्न (7) इस पाठ से –

(क) मैंने सीखा – पृथ्वी को हरा-भरा रखने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को वृक्ष लगाना चाहिए |

(ख) मैं करूंगी / करूंगा – मैं स्वयं वृक्ष लगाऊंगा |

Previous Post Next Post