कोरोना वायरस महामारी लहर से आज भारत समेत पूरा विश्व में चारों ओर  हाहाकार मचा हुआ है। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए सरकार को सम्पूर्ण लॉकडाउन तक लगाना पड़ा है। लॉकडाउन एक तरह का कर्फ़्यू ही होता है। जिसमें आप घर से बाहर नही निकल सकते हैं। सड़कों पर पुलिस का पहरा होता है। आवश्यक सेवाओं के अलावा किसी को भी बाहर जाने की परमीशन नही होती है। बंदी के कारण लोगों के  काम काज व व्यापार पर तगड़ा असर पड़ा है। इस महामारी के चलते देश में आर्थिक तंगी के हालात बन रहे है। कोरोना महमारी का असर मध्यम वर्ग व मज़दूर वर्ग पर अधिक पड़ा है। कोरोना वायरस महमारी की बात चलती है तो लोगों को एक बात और डराती है की कोरोना की दूसरी लहर, कोरोना की पहली लहर से भी ज्यादा खतरनाक है।
 

कोरोना वायरस लहर क्या है कोरोना वायरस पहली लहर  दूसरी, तीसरी लहर, लक्षण व बचाव | Corona Wave in India in Hindi, 1, 2, 3, Second, Third wave Symptoms)

 कोरोना वायरस लहर क्या है कोरोना वायरस पहली लहर  दूसरी, तीसरी लहर, लक्षण व बचाव | Corona Wave in India in Hindi, 1, 2, 3, Second, Third wave Symptoms)

क्या आप जानते है की कोरोना ही पहली लहर क्या है ? कोरोना ही दूसरी लहर क्या है ? मोबाइल साथी डॉट काम में आपको कोरोना वायरस महमारी से जुड़ी कोरोना महमारी पहली लहर, कोरोना दूसरी लहर, और कोरोना महामरी के तीसरी लहर से जुड़ी पूरी जानकारी दी जाएगी।

इसे पढ़ें - कोरोना कोविड 19 AP स्ट्रेन क्या है, कोरोना लक्षण, उपाय AP Strain in Hindi (Covid 19, N440K, Corona, Symptoms, News, Vaccine, Kurnool, Treatment )

 हम ही एक बात सुनते है की इस लेख में आपको इस के संदर्भ में पूरी जानकारी दी जाएगी।

कोरोना वायरस लहर क्या है ?

कोरोना वायरस महमारी एक जानलेवा बीमारी है। जिसका संक्रमण लगातार बढ़ता ही जा रहा है।  कोरोना महमारी के एक्टिव केस के आँकड़े चौकाने वाले हैं। हर दिन लाखों में लोग कोरोना पोज़िटिव हो रहे हैं। यह आँकड़ा अभी इसलिए है क्योंकि सभी का कोविड टेस्ट नही हुआ है। बहुत से लोग ऐसे हैं जिनकी कोरोना रिपोर्ट देर से मिलती है। वास्तविक आकड़ें और भयावह हो सकते हैं। वर्तमान में कोरोना से मृत्यु दर में काफी इजाफा देखने को मिला है जो काफी भयानक है। भारत मे वर्तमान में दूसरी लहर काफी सक्रिय है जिससे लोगों की मृत्यु दर में काफी इजाफा हुआ है । साथ ही देश जिस तरह से प्राणवायु ऑक्सीजन के लिए प्रयत्न कर रहा है । अपनों की जान बचाने के लिए लोग ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए परेशान हैं। कोरोना के कारण लोगों के रोज़गार छिन गये हैं । साथ ही मेडिकल में लोगों का पैसा जा रहा है। कमाई का ज़रिया बंद होने से लोग आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं। जिससे कई समस्याएं जैसे बेरोजगारी और भुखमरी जैसी समस्याएं भी उत्पत्र हो रही है।रोना ने जब से दुनिया में दस्तक दी है, तब से अभी तक में कोरोना की 3 लहरों ने तबाही मचा दी है ।  कोरोना के सभी लहरों एवं कोरोना के लक्षण की जानकारी हम यहाँ प्रदर्शित कर रहे है ।

इसे पढ़ें - कोरोना इम्यूनिटी बूस्टर जोशांदा आयुर्वेदिक काढ़ा बनाने की विधि । Corona Immunity Booster Joshanda Kadha Recipe in hindi

कोरोना पहली लहर


दुनिया में जब कोरोना महमारी का संक्रमण की शुरुआत हुई थी तो उसे कोरोना की पहली लहर माना जा सकता है। अमेरिका के सेंटर्स फ़ॉर डीज़ीज़ कंट्रोल एंड प्रीवेन्शन (सीडीसी) के वैज्ञानिकों द्वारा किए गए इस शोध के नतीजों को क्लिनिकल इन्फ़ेक्शियस डीज़ीज़ नाम की पत्रिका में प्रकाशित किया गया है । आधिकारिक तौर पर वैज्ञानिकों को कोरोना वायरस के बारे में 31 दिसंबर 2019 को तब जानकारी मिली जब चीन के वुहान के हुबेई प्रांत के स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक चेतावनी जारी कर कहा कि यहां कई ऐसे मामले दर्ज किए जा रहे हैं जिनमें निमोनिया के गंभीर लक्षण हैं । उन्होंने इसे अजीब तरह की सांस लेने से संबंधित बीमारी कहा । कोरोना महमारी का संक्रमण की शुरुआत शुरुआत दिसम्बर 2019 से मानी जाती है  । जब कोरोना  चाइना, अमेरिका, इटली, सहित दुनिया के कई हिस्सों में अपने पैर पसार चुका था। अमेरिका में Sars-Cov-2 का पहला मामला 21 जनवरी 2020 को दर्ज किया गया। ब्राज़ील में कोरोना का पहला मामला 26 फ़रवरी 2020  को दर्ज किया गया। कोरोना दुनिया में अलग – अलग हिस्सों के साथ भारत में भी आ चुका था । भारत में सबसे पहले कोरोना वायरस से संक्रमण का मामला 30 जनवरी 2020 को दक्षिण भारत के केरल में सामने आया था । वायरस से संक्रमण का पहला शिकार 20 साल की युवती थी । दरअसल, वह युवती 25 जनवरी 2020 को चीन के वुहान शहर से लौटी थी । आपको बता दें कि वुहान ही वह शहर है जहां से इस खतरनाक वायरस की शुरूआत मानी जाती है । भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से पहली मौत 12 मार्च, 2020 को हुई थी । बता दें कि कोविड 19 के कारण भारत में पहली मौत कर्नाटक के कलबुर्गी में हुई थी । 76 साल के ये व्यक्ति सऊदी अरब से भारत वापिस लौटे थे । इसके साथ ही कोरोना का जानलेवा सिलसिला शुरू हुआ।

कोरोना पहली लहर लक्षण

शुरुआत में कोरोना पोज़िटिव मरीजों में ये लक्षण पाए गए - कोरोना मरीजों को सर्दी व जुकाम के साथ – साथ तेज खांसी की समस्या- तेज बुखार और बदन का टूटना। गले में खराश का होना साथ ही खाने के स्वाद में बदलाव का आना।-कोरोना संदिग्धों के गले में दर्द व सूखापन की समस्याोरोना की पहली लहर में मरीजों में इस प्रकार के लक्षण देखे गये है। भारत में अगस्त माह के बाद कोरोना के मरीजों में कमी देखी गई थी साथ ही मरीजों की रिक्वरी भी तेजी की दर से होने लगी थी। लोगों के शरीर मेंकोरोना वायरस के ख़िलाफ़ ऐंटीबाडी भी डेवलप होने लगी। स्वस्थ हो रहे लोगों ने कोरोना पोज़िटिव लोगों को प्लाज़्मा डोनेट की जिससे वह लोग भी जल्दी ही ठीक होने लगे।

कोरोना दूसरी लहर

देश कोरोना की पहली लहर से उभर ही रहा था की देश में कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत हो चुकी थी. विशेषज्ञों का मानना था कि यह दूसरी लहर पहली लहर से भी खतरनाक हो सकती है। डॉक्टर की मानें तो इस लहर में लोगों को काफी ज्यादा खतरा है, अगर लोग लापरवाही करने से भी नही मानते है, तो आने वाला समय काफी खतरनाक साबित हो सकता है।

कोरोना दूसरी लहर लक्षण

कोरोना की इस दूसरी लहर में मरीजों को कुछ इस प्रकार की समस्या का सामना कर पड़ सकता है। जैसे - मरीज के शरीर में दर्द एवं पीड़ा।, गले में सूखी खराश।, तेज दस्त लगना।, आँख आना या आंखों में तकलीफ होना।, तेज सिरदर्द।, - स्वाद या गंध का चला जाना।, त्वचा पर दाने या उंगलियों या पैर की उंगलियों का काटना, चुभना या लाल होना।, मरीज जो इस समस्या से जूझ रहे है उनमे ऐसा देखा गया है की उनके शरीर में ऑक्सीजन का स्तर एकदम से गिर जाता है, जिससे उन्हें सांस लेने में परेशानी हो रही है ।, मरीज के सीने में दर्द व सीने में कफ की समस्या का उत्पत्र होना।, शरीर में थकान का होना व शरीर का टूटना।

साल 2020 के दिसंबर माह में कोरोना का कहर एकदम खत्म होता दिखाई दे रहा था की अचानक कोरोना एक नया स्ट्रेन सामने आ गया, जिसमें मरीजों को सांस की समस्या ज्यादा होने लगी. काफी गम की बात है की इस नये लहर में लोगों ने अपने भी काफी खोये है। 

कोरोना वायरस लहर क्या है कोरोना वायरस पहली लहर  दूसरी, तीसरी लहर, लक्षण व बचाव | Corona Wave in India in Hindi, 1, 2, 3, Second, Third wave Symptoms)

कोरोना तीसरी लहर


महाराष्ट्र व दिल्ली के हालात देखे तो ऐसा लग रहा है की दोनों जगहों पर कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है। कोरोना की दूसरी लहर के लक्षण ही तीसरी लहर में देखने को मिलते है.

कोरोना तीसरी लहर लक्षण


फर्क सिर्फ इतना ही है कि इस तीसरी लहर में या इस नये स्ट्रेन में मरीज के शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता झट से कम हो जाती है, एवं मरीज की सांस भी अचानक से कम हो जाती है। यह एक बहुत बड़ा कारण है जिससे यह कहा जा सकता है कि कोरोना की तीसरी लहर ने भारत में दस्तक दे दी है ।


कोरोना महमारी का संक्रमण - कैसे फैल रहा है कोरोना


कोरोना से बचने के उपाय जानने से पहले हमें इसके संक्रमण की जानकारी होनी चाहिए। कोरोना किसी कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने से फैलता है। किन्तु अगर कोई कोरोना संक्रमित आपके सम्पर्क में आता है तो आपको उसके बाद क्या करना चाहिए, यह जानना भी काफी जरूरी है। अगर आपको लगता है की आप कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आये है तो सबसे पहले अपने हाथों को सेनेटाइज करें। यह कोशिश करें की आपके हाथ आपके मुंह तक न जाय न ही आपके हाथ आपके नाक को स्पर्श करे। क्योंकि कोई भी वायरस हमारे शरीर में मुंह या नाक के जरिये ही प्रवेश करता है।

कोरोना से बचने के उपाय -

- अपने हाथों को साबुन से अच्छी प्रकार से हाथ धोएँ। घर से बाहर होने पर एलकोहल युक्त सेनेटाइज़र को हाथों को सेनेटाइज करें (Clean your hands often. Use soap and water, or an alcohol-based hand rub.) - घर से बाहर सामाजिक दूरी बनाएँ । अगर ख़ासी व जुकाम हो तो उससे विशेष दूरी बनाएँ। - Maintain a safe distance from anyone who is coughing or sneezing. घर से बाहर निकलते वक्त मास्क ज़रूर पहनें। अगर सामाजिक दूरी संभव न हो तो N95 मास्क या फिर जो भी उपलब्ध हो ज़रूर पहनें (Wear a mask when physical distancing is not possible.) - अपने मुँह और नाक को न छुएँ Don’t touch your eyes, nose or mouth. छींक या ख़ासी आने पर अपने मुँह को कोहनी से ढक लें । (Cover your nose and mouth with your bent elbow or a tissue when you cough or sneeze. - घर पर रहें आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलें (Stay home if you feel unwell.) अगर आपको सर्दी, जुकाम, या साँस लेने में परेशानी हो तो तुरंत हॉस्पिटल जाएँ। (If you have a fever, cough and difficulty breathing, seek medical attention. )

हम उम्मीद करते है की इस लेख कोरोना वायरस लहर क्या है कोरोना वायरस पहली लहर  दूसरी, तीसरी लहर, लक्षण व बचाव | Corona Wave in India in Hindi, 1, 2, 3, Second, Third wave Symptoms) कोरोना वायरस से संबंधित बताई गई रोचक जानकारी आपको पसंद आई होगी। अतः कोरोना की गाइडलाइन का पालन करे और अपना एवं अपनों का बचाव करें ।

Previous Post Next Post